Home खबर ED अधिकारी से सौदेबाजी पर विजय माल्या ने किया ट्वीट, कहा- झूठी...

ED अधिकारी से सौदेबाजी पर विजय माल्या ने किया ट्वीट, कहा- झूठी है खबर

0
SHARE

बैंक घोटाला मामले में भगोड़ा शराब कारोबारी विजय माल्या ने शनिवार को मीडिया की उस खबर का खंडन किया है, जिसमें प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के एक अधिकारी के हवाले से दावा किया गया था कि विजय माल्या ने अपनी जब्त संपत्ति को लेकर सौदेबाजी की कोशिश की थी.

इस मामले में माल्या ने सफाई देते हुए कहा कि ऐसे बयान देने से पहले अधिकारी को ईडी चार्जशीट को ठीक से पढ़ लेना चाहिए. दरअसल, ब्रिटेन और अमेरिका में कुछ रियायत के बदले आरोपी द्वारा ऐसी सौदेबाजी की जाती है. हालांकि भारत में ऐसी सौदेबाजी का चलन नहीं है.

प्रवर्तन निदेशालय के अधिकारी के बयान को खारिज करते हुए माल्या ने ट्वीट में किया, ‘मीडिया रिपोर्ट्स में एक ईडी अधिकारी के हवाले से कहा गया कि मैं ईडी से जब्त संपत्ति को मुक्त कराने के लिए सौदेबाजी की कोशिश कर रहा हूं. मैं सम्मानपूर्वक सलाह देना चाहूंगा कि अधिकारी पहले ईडी की चार्जशीट को ठीक से पढ़ लें. साथ ही मैं ईडी से भी कहूंगा कि वह सौदेबाजी की इस थ्योरी को कोर्ट में उनके सामने कहे, जिनसे मैंने सौदेबाजी करने की कोशिश की है.’ Youtube
बैंक घोटाला मामले में भगोड़ा शराब कारोबारी विजय माल्या ने शनिवार को मीडिया की उस खबर का खंडन किया है, जिसमें प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के एक अधिकारी के हवाले से दावा किया गया था कि विजय माल्या ने अपनी जब्त संपत्ति को लेकर सौदेबाजी की कोशिश की थी.

इस मामले में माल्या ने सफाई देते हुए कहा कि ऐसे बयान देने से पहले अधिकारी को ईडी चार्जशीट को ठीक से पढ़ लेना चाहिए. दरअसल, ब्रिटेन और अमेरिका में कुछ रियायत के बदले आरोपी द्वारा ऐसी सौदेबाजी की जाती है. हालांकि भारत में ऐसी सौदेबाजी का चलन नहीं है.

प्रवर्तन निदेशालय के अधिकारी के बयान को खारिज करते हुए माल्या ने ट्वीट में किया, ‘मीडिया रिपोर्ट्स में एक ईडी अधिकारी के हवाले से कहा गया कि मैं ईडी से जब्त संपत्ति को मुक्त कराने के लिए सौदेबाजी की कोशिश कर रहा हूं. मैं सम्मानपूर्वक सलाह देना चाहूंगा कि अधिकारी पहले ईडी की चार्जशीट को ठीक से पढ़ लें. साथ ही मैं ईडी से भी कहूंगा कि वह सौदेबाजी की इस थ्योरी को कोर्ट में उनके सामने कहे, जिनसे मैंने सौदेबाजी करने की कोशिश की है.’

शुक्रवार को मीडिया रिपोर्ट में ईडी के एक अधिकारी के हवाले से कहा गया था कि बैंक फ्रॉड मामले में माल्या ने सौदेबाजी करने की कोशिश की थी. साथ ही यह प्रस्ताव दिया था कि अगर ईडी उसकी फ्रीज संपत्ति को लौटा दे, तो वो बैंक के बकाया का भुगतान कर देगा.

किंगफिशर लोन मामले में माल्या द्वारा अपनी खामोशी तोड़ने के बाद सौदेबाजी की रिपोर्ट सामने आई थी. इससे पहले माल्या ने मामले में सफाई पेश करते हुए दावा किया था कि पूरे मामले में वह बेगुनाह हैं. इसके बावजूद देश के नेताओं और मीडिया ने उन्हें कर्ज लेकर फरार कारोबारी घोषित कर दिया है.

विजय माल्या ने दावा किया था कि मीडिया द्वारा चलाए गए ट्रायल के बाद कुछ बैंकों ने भी उन्हें विलफुल डिफॉल्टर घोषित करने का फैसला किया है. खास बात यह है कि माल्या ने दावा किया था कि यह सफाई उनके द्वारा 15 अप्रैल 2016 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और वित्तमंत्री अरुण जेटली को लिखे गए पत्र के आधार पर है और उनके बयान में दोनों को लिखी गई चिट्ठी के अंश शामिल हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here