Home खबर 7 बिल्डरों के खिलाफ दर्ज होगी FIR

7 बिल्डरों के खिलाफ दर्ज होगी FIR

0
SHARE

नोएडा-ग्रेटर नोएडा के बिल्डर प्रॉजेक्ट्स में बिना फ्लैटों की रजिस्ट्री कराए पजेशन देने वाले 7 बिल्डरों के खिलाफ एफआईआर दर्ज होगी। डीएम ने स्टांप विभाग के अधिकारियों को बिल्डरों के खिलाफ केस दर्ज कराने के निर्देश दिए हैं। दोनों शहरों में 10 हजार से अधिक फ्लैटों में लोग बिना रजिस्ट्री कराए रह रहे हैं। रजिस्ट्री न होने से यूपी सरकार को 334 करोड़ रुपये का नुकसान हो रहा है। सूरजपुर स्थित कलेक्ट्रेट में डीएम बी. एन. सिंह ने स्टांप ड्यूटी को लेकर बिल्डर्स और स्टांप विभाग के अधिकारियों के साथ मीटिंग कर समीक्षा की। डीएम ने बताया कि नोएडा-ग्रेनो में 7 बिल्डर ऐसे हैं जिनके फ्लैटों में 10 हजार 318 बायर्स को पजेशन मिल चुका है, लेकिन बिल्डर ने फ्लैटों की रजिस्ट्री नहीं कराई है। इससे प्रदेश सरकार को 334 करोड़ 13 लाख रुपये का नुकसान हो रहा है। डीएम ने स्टांप विभाग के अधिकारियों एक सप्ताह के भीतर इन बिल्डरों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने के निर्देश दिए हैं। गौरतलब है कि स्टांप ऐक्ट की धारा 64 सी के तहत रिपोर्ट दर्ज कराने पर 3 माह की सजा एवं 10 हजार रुपये जुर्माने का प्रावधान है। डीएम ने बताया कि आम्रपाली ग्रुप, डिवाइन इंडिया प्राइवेट लिमिटेड, ऐसोटेक, सेलिस्टे टावर, विक्ट्री क्रॉस रोड, मैन रियल्टर्स प्राइवेट लिमिटेड, एजीसी अजनारा होम्स और अक्वायर गार्डेनिया एम्स गिलोरी ने बिना रजिस्ट्री के बिना फ्लैटों की रजिस्ट्री कराए पजेशन दे दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here