Home खबर पाकिस्तान ने अंडरवियर देखकर एक भारतीय नागरिक को जासूसी के आरोप में...

पाकिस्तान ने अंडरवियर देखकर एक भारतीय नागरिक को जासूसी के आरोप में क्यूं पकड़ा?

0
SHARE

पाकिस्तानी सुरक्षा बलों ने पाकिस्तानी पंजाब से एक भारतीय को पकड़ा है. पकड़े गए भारतीय की पहचान हो गई है. नाम है राजू भील. राजू मध्य प्रदेश के खंडवा जिले के इंधावड़ी गांव का रहने वाला है. पाकिस्तान ने राजू को पकड़ा तो आरोप भी लगाया. दावा किया कि- राजू जासूस है. लेकिन सच्चाई अलग है. दरअसल, राजू मानसिक समस्याओं से जूझ रहा है. ऐसा पहली बार नहीं हुआ कि राजू घर से गायब हुआ हो. पहले भी गायब होता रहा है. लेकिन अबकी वो सीधा पाकिस्तान पहुंच जाएगा, ये किसी ने न सोचा था.

# अंडरवियर देख हुआ भारतीय होने का शक
राजू की गिरफ्तारी पंजाब के पाकिस्तानी हिस्से के डेरा गाज़ी खान से बताई जा रही है. जब वहां सुरक्षाबलों ने राजू को देखा तो उन्हें शक हुआ. चेहरा-मोहरा वहां के लोगों से अलग था. पाकिस्तानी सुरक्षाबलों को शक की एक और वजह दिखी. वो था राजू का अंडरवियर. ज़ाहिर तौर पर राजू ने भारतीय ब्रांड का अंडरवियर पहन रखा था. जब उसे पकड़ा गया तो ये बात पाकिस्तानी सुरक्षाबलों ने नोटिस की. उससे पूछताछ की गई. राजू ने अपना पता भारत का खंडवा जिला बताया.

इस बात की सूचना भारतीय ऐजेंसियों को दी गई. भारतीय इंटेलिजेंस ऐजेंसियां राजू के घर पहुंचीं. परिवार को राजू की तस्वीर दिखाकर पहचान करने को कहा. परिवार वालों ने झट से अपने बेटे को पहचान लिया.

# राजू की फैमिली ने क्या कहा-
राजू की मां ने साफ कहा कि उनका बेटा मानसिक रूप से कमजोर है. वो जासूस हो ही नहीं सकता. उन्होंने कहा-

वो दो रोटी कमा के नहीं खा सका, वो जासूसी क्या करेगा? उसकी हालत को देखकर ही सरकार को रहम आ जाना चाहिए. वो पागल है, दो-तीन महीने से लापता है. पहले भी वो कई दिन घर से गायब रहता था. पर फिर वापस आ जाता था. लेकिन अभी दो तीन महीने से नहीं आया. वो कैसे पहुंचा हमें कुछ पता नहीं, हमें तो जब फोटो दिखाकर पूछा तब हमने कहा कि यह हमारा ही लड़का है. हम प्रधानमंत्री से मांग करते है कि उसे वापस ले आएं.
खंडवा जिले के इंधावड़ी गांव के पूर्व सरपंच ने भी राजू की तस्दीक की है. राजू पिछले क़रीब 3 महीने से लापता था. राजू अनपढ़ है. मानसिक रूप से कमज़ोर होने के कारण अक्सर घर से भाग जाता था. अब घर वाले हैरान हैं कि वो इतनी दूर पाकिस्तान कैसे पहुंच गया. इसके पहले भी वो महीना-महीना घर से लापता रहता था और फिर लौट आता था.

इस बार भी उन्हें यही लगा कि कुछ दिन बाद लौट आएगा इसलिए उन्होंने इसकी पुलिस में गुमशुदगी भी दर्ज नहीं कराई.

गांव वालों के मुताबिक, राजू अक्सर ओंकारेश्वर चला जाता था. उसे गांजे की लत लग गई थी. शक जताया जा रहा है कि नशे की इसी लत ने उसे बॉर्डर पार पहुंचा दिया होगा. गनीमत ये कि किसी ने तस्करी जैसी हरकत के लिए उसका इस्तेमाल नहीं किया. और पाकिस्तानी सुरक्षाबलों ने भी उसके साथ मारपीट नहीं की.

राजू भील के पाकिस्तान में होने के बारे में घरवालों को पता चला तो वो मदद के लिए प्रशासन के पास पहुंचे. राजू पाकिस्तान में है, इसकी जानकारी प्रशासन को भी राजू के परिवार ने दी. जिला प्रशासन इस पूरी घटना से बेख़बर था. मध्य प्रदेश के कैबिनेट मंत्री विजयलक्ष्मी साधौ ने कहा कि हम मुख्यमंत्री के माध्यम से केंद्रीय सरकार से मदद मांगेंगे.

#pradhanmantri #pakistan #india #raju #madhyapradesh #cmofmadhyapradesh #indian #hindinews #shipradarpan

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here