Home खबर कासगंज हिंसा: ‘मुझे कार से खींचकर बाहर निकाला और आंखे फोड़ दी

कासगंज हिंसा: ‘मुझे कार से खींचकर बाहर निकाला और आंखे फोड़ दी

0
SHARE

उत्तर प्रदेश के कासगंज में भड़की हिंसा ने तीन परिवारों को ऐसे जख्म दिए कि वो शायद ही इस दंगे का दर्द भूल पाएंगे. हिंसा में एक स्‍थानीय कॉलेज से कॉमर्स की पढ़ाई कर रहे चंदन गुप्‍ता की मौत हो गई, जबकि मजदूरी करने वाले नौशाद और मोहम्‍मद अकरम घायल हैं.दंगे में अपनी एक आंख खो चुके लखीमपुर खीरी के रहने वाले मोहम्मद अकरम की कहानी बेहद दर्दनाक है. सबसे बड़ी बात तो यह कि अकरम का कासगंज से कुछ लेना देना भी नहीं है. वह ना तो कासगंज के रहने वाले थे और ना ही वो शहर में जा रहे थे. उन्होंने बताया कि मेरी गर्भवती पत्नी की डिलीवरी होने वाली थी इसीलिए मैं कार से कासगंज शहर से होते हुए अलीगढ़ जा रहा था कि तभी भीड़ ने कार पर हमला कर दिया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here