Home खबर कैराना उपचुनाव: EVM में खराबी के चलते 73 बूथों पर दोबारा मतदान...

कैराना उपचुनाव: EVM में खराबी के चलते 73 बूथों पर दोबारा मतदान कराने का फैसला

0
SHARE

कैराना लोकसभा उपचुनाव में 73 बूथों पर दोबारा मतदान होगा. 30 मई को दोबारा मतदान करवाया जाएगा. आपको बता दें कि सोमवार को देश की 4 लोकसभा और 10 विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनाव के लिए मतदान हुआ था. कई जगह ईवीएम में गड़बड़ी की शिकायतें मिली थीं.

कैराना उपचुनाव में VVPAT ख़राब की वजह से इन सीटों पर दोबारा मतदान होगा. नकुड़ की 23, गंगोह की 45, थाना भवन की 1, शामली की 4 पोलिंग बूथ पर दोबारा मतदान होगा.

उत्तर प्रदेश की कैराना लोकसभा सीट 54 फीसदी और नूरपुर विधानसभा सीट पर 61 फीसदी मतदान हुआ था. उत्तर प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी एल वेंकटेश्वरलू ने बताया था कि वोटिंग के दौरान करीब 384 स्थानों पर वीवीपैट खराब होने की शिकायतें मिली थीं, जिन्हें बदल कर सुचारू रूप से वोटिंग कराई गई थी. उन्होंने बताया था कि 2014 में कैराना में 73 फीसदी जबकि 2017 में नूरपुर में 67 फीसदी वोट पड़े थे.

सोमवार को राज्य चुनाव आयोग ने कहा था कि रिपोर्ट प्राप्त होने के बाद उक्त वोटिंग सेंटर्स पर पुनर्मतदान के संबंध में आयोग द्वारा निर्णय लिया जाएगा. इससे पहले ईवीएम गड़बड़ी की शिकायतों के बीच वेंकटेश्वरलू ने कहा था, ‘मैं राजनीतिक पार्टियों को आश्वासन देना चाहता हूं कि गड़बड़ ईवीएम मशीनें बदली जा रही हैं. अगर किसी वजह से वे बदल नहीं पाती हैं तो हम पुनर्मतदान का आदेश देने में हिचकिचाएंगे नहीं.’ विपक्षी सपा और आएलडी ने कैराना और नूरपुर सीटों पर वोटिंग के दौरान ईवीएम में गड़बड़ी की शिकायत की थी.

उम्‍मीदवार तबस्सुम हसन ने भी लगाया आरोप

ईवीएम और वीवीपैट में खराबी की शिकायतों के बाद विपक्ष ने इसे बीजेपी की साजिश बताया था. कैराना से आरएलडी उम्मीदवार तबस्सुम हसन ने चुनाव आयोग को पत्र लिखकर शिकायत की थी. इस दौरान उन्होंने बीजेपी पर आरोप लगाया था कि जानबूझकर ईवीएम और वीवीपैट मशीनों से हर जगह छेड़छाड़ की गई है. उन्होंने कहा था कि मुस्लिम और दलित बहुल इलाके में खराब ईवीएम को नहीं बदला गया, भाजपा को लगता है कि वे इस तरह चुनाव जीत सकते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here