Home खबर CWG: गुरुराजा बोले- हार करीब थी, परिवार की दशा याद कर जीता...

CWG: गुरुराजा बोले- हार करीब थी, परिवार की दशा याद कर जीता मेडल

0
SHARE

राष्ट्रमंडल खेलों में देश के लिए पहला पदक जीतने वाले भारोत्तोलक पी गुरुराजा ने कहा कि पहले दो प्रयास में विफल होने के बाद उन्होंने देश और परिवार को याद किया, जिससे उन्हें भार उठाने का हौसला दिया.

कर्नाटक के छोटे से गांव से आने वाले 25 साल के इस खिलाड़ी ने प्रतिस्पर्धा के पहले ही दिन पुरुषों के 56 किलो वर्ग में रजत पदक जीतकर 21 राष्ट्रमंडल खेलों में भारत की झोली में पहला पदक डाला.

क्लीन और जर्क के पहले दो प्रयास में विफल होने वाले गुरुराजा ने कहा, ‘जब मैं पहले दो प्रयास में विफल रहा था, तब मेरे कोच ने मुझे समझाया कि मेरे लिए जीवन का काफी कुछ इस प्रयास पर निर्भर करता है. मैंने अपने परिवार और देश को याद किया.

राष्ट्रमंडल खेलों में पदार्पण कर रहे गुरुराजा ने अपना सर्वश्रेष्ठ व्यक्तिगत प्रदर्शन दोहराते हुए 249 किलो ( 111 और 138 ) वजन उठाया. गुरुराजा स्नैच के बाद तीसरे स्थान पर थे, जिन्होंने दो प्रयास में 111 किलो वजन उठाया. क्लीन और जर्क में पहले दो प्रयास में वह नाकाम रहे, लेकिन आखिरी प्रयास में 138 किलो वजन उठाकर रजत सुनिश्चित किया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here